मानसून बीत चुका, लेकिन मोरनी में हर्बल पार्क का काम नही हुआ शुरू, अधिकारियों और सरकार के बीच लटका मामला- प्रदीप चौधरी.

पंचकूला, 21 अगस्त ()। भाजपा सरकार केवल झुठ और फरेब के रास्ते पर चल कर प्रदेश की जनता को मानसिक रूप से ठगने का काम कर रही है, उसके चुनावों में किए वायदे और सत्ता में आने के बाद की गई एक भी घोषणा का पूरा नही होना सरकार की विफलता नही तो क्या है। मानसून बीच चुका है, लेकिन भाजपा की मोरनी में हर्बल फोरेस्ट परियोजना पर सरकार एक कदम भी आगे नही बढ़ पाई। मोरनी में हर्बल पार्क बनाने का मामला केवल सरकार और फाईलों में ही सिमट कर रह गया। उक्त आरोप इनैलो के पूर्व एम.एल.ए एवं मौजूला जिलाध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने लगाएं।
प्रदीप चौधरी ने सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि भाजपा सरकार जिस हर्बल फोरेस्ट परियोजना को अपनी एक महत्वाकांक्षी परियोजना मानकर चल रही थी, उस परियोजना का मानसून में काम शुरू नही होना ही परियोजना की विफलता का सबसे बड़ा राज खुल गया है। चौधरी ने कहा कि सरकार मोरनी में करीब 50 करोड़ की लागत से1700 एकड़ क्षेत्र पर अंतराष्ट्रीय हर्बल पार्क विकसित करने की बात कर रही थी और उसमें सरकार का उद्देश्य विश्वभर में उपलब्ध प्राकृतिक जड़ी-बूटियों की 25,000 प्रजातियों वाले अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के हर्बल फोरेस्ट विकसित करना लेकिन सरकार इस बात का जवाब दे कि सरकार की हर्बल पार्क बनाने की घोषणा के इतने दिनों बाद भी कोई काम नही हो सका और यह सरकार के लिए बेहद शर्मनाक है और उसके झुठे वायदे करने की आदतों की सच्चाई पेश कर रहे है। इनैलो पूर्व विधायक ने कहा कि मोरनी में हर्बल पार्क बनाने का मामला केवल अफसरों और सरकार के बीच फाईलों में ही सिमट कर रह गया है, लेकिन मानूसन बीत रहा है और अभी तक हर्बल पार्क का काम केवल फाइलों तक ही सिमटना सरकार की इस योजना पर सवाल खड़े करता है। चौधरी ने कहा कि जनता ने वोट देकर भाजपा सरकार को इसलिए चुना कि वो प्रदेश का विकास करें, ना कि सत्ता को अपने फायदें के लिए यूज करें, क्योंकि जनता की ढेरों समस्याएं है, जिन से लोग जुझ रहे है। सरकार केवल तानाशाही फैसलें जनता पर थोपने तक ही सीमित है, उसके अलावा उसे जनता के दुख-दर्द की कोई फिक्र नही है। उन्होंने कहा कि भाजपा अपने वायदों को पूरा करने से भाग रही है, लेकिन जनता की उसे फिक्र नही है।

Share