प्राचीन कला केन्द्र के छात्रों द्वारा खूबसूरत प्रस्तुतियां

Chandigarh-1/10/1,शहर की प्रतिष्ठित सांस्कृतिक संस्था प्राचीन कला केन्द्र द्वारा आज सैक्टर 35 स्थित एम.एल.कौसर सभागार में मासिक कड़ी परम्परा के 17 वें संस्करण में केन्द्र के छात्रों द्वारा संगीत की विशेष संध्या का आयोजन किया गया । केन्द्र में कार्यरत संगीत शिक्षिका शिवानी अंगरीश के निर्देशन में छात्रों ने अपनी कला का बखूबी प्रदर्शन करके खूब तालियां बटोरी । इसमें 10 से 45 वर्ष तक के कलाकारों ने भाग लिया ।

कुल सात प्रस्तुतियों से सजी परम्परा में सरस्वती वंदना से कार्यक्रम की शुरूआत की गई । उपरांत राग मालकौंस में निबद्ध ‘‘जय दुर्गाती’’ पेश की गई । इसके पश्चात कलाकारों द्वारा राग बागेश्री में निबद्ध ‘‘फूल रही कलियां मधुवन में’’ पेश की गई । इसके पश्चात छोटे कलाकारों द्वारा प्रार्थना ‘‘हर देश में तू हर वेश में तू’’ प्रस्तुत की गई ।इसके पश्चात मीरा बाई का भजन ‘‘गोबिंद के गुण गाना मैं तो’’ पेश की गई । उपरांत ‘‘तन के तबूरे’’ भजन प्रस्तुत किया गया।

कार्यक्रम का समापन समूह शब्द ‘‘जो मांगो ठाकुर अपने तो’’ से किया गया जिसे दर्शकों ने खूब सराहा ।

कार्यक्रम के अंत में केन्द्र की रजिस्ट्ार डाॅ.शोभा कौसर ने कलाकारों की प्रशंसा की एवं गुरू शिवानी की भी प्रशंसा की ।

Share