हाउसिंग बोर्ड 2010 के नीड बेस आदेश दबाकर रुपए 50 के बदले रुपए 500 प्रति वर्ग फीट लेने की शिकायत- अविनाश सिंह शर्मा

चंडीगढ़-12/9/18,

चंडीगढ़ की आवाज संस्था के अध्यक्ष अविनाश सिंह शर्मा और महामंत्री कमल किशोर शर्मा ने एडवाइजर को मांग पत्र सौंपकर 50 रुपए  प्रति वर्ग फीट की दर से नीड बेस्ट चेंज का फीस चार्ज लेने की मांग की है । उन्होंने कहा कि समाचार पत्रों से जानकारी मिली है कि प्रशासन वायलेशन चार्ज 500 रुपए प्रति वर्ग फीट लेने की तैयारी में है । उन्होंने कहा कि वर्ष 2009 की बैठक में वायरलेशन चार्ज 50 रुपए प्रति वर्ग फीट लेने को मंजूरी दी गई थी |

उन्होंने आरोप लगाया कि 2010 में हाउसिंग बोर्ड के चेयरमैन सचिव के हस्ताक्षरयुक्त इस आदेश को बोर्ड ने जनता के सामने आने नहीं दिया । ऐसे में पूर्व में लिए गए फैसले से विपरीत  बायलेशन चार्ज 500 रुपए प्रति वर्ग लेना सरासर गलत है । उन्होंने कहा कि अफसरशाही के मनमाने फैसले का खामियाजा लाखों जनता को भुगतना पड़ेगा। उन्होंने एडवाइजर से मांग की है कि 2010 में लिए गए फैसले के अनुरूप ही 50 रुपए प्रति वर्ग फीट नीट बेस्ट चार्ज लिया जाए । उन्होंने कहा कि हाउसिंग बोर्ड कैंसिलेशन का नोटिस भेजकर हजारों अलॉटियों को परेशान कर रहा है । उन्होंने आरोप लगाया कि हाउसिंग बोर्ड में भ्रष्टाचार का बोलबाला है । और कुछ नेताओं की शह पर 23 मार्च 2010 को लिए गए फैसले की अधिसूचना को दबा दिया गया । उन्होंने एडवाइजर से अपील की कि 2010 में लिए गए फैसले को ही लागू किया जाए ताकि जनता को राहत हो । उन्होंने मांग पत्र के माध्यम से एडवाइजर को बताया कि 09 नबंवर 2009 को तत्कालीन वित्त सचिव संजय कुमार की अध्यक्षता में नीड बेस्ट चेंज में अपेक्षित बदलाव के लिए 8 सदस्य कमेटी की बैठक हुई थी । कमेटी में वित्त सचिव एक पार्षद, फासबेक के अध्यक्ष, चंडीगढ़ रेजिडेंट फेडरेशन के अध्यक्ष, चंडीगढ़ के आर्किटेक्ट, मुख्य अभियंता, हाउसिंग बोर्ड के सीईओ की सहमति से 52 तरह के नीड चेंज पर सभी सभी ने हस्ताक्षर किए थे । इसके बावजूद 100 सौ रुपए प्रति वर्ग फीट की दर से वायलेशन पर वार्षिक किराया जमा कराए जा रहे थे । जो सरासर गलत था । शर्मा ने बताया कि बोर्ड के इस फैसले के खिलाफ उन्हें मजबूरन 1 अप्रैल 2018 को पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में जनहित याचिका दाखिल करनी पड़ी। उन्होंने एडवाइजर को 2009 में वित्त सचिव की अगुवाई में हुई बैठक का मिनट और हाउसिंग बोर्ड के आदेश की प्रति सौंप कर जनता के हित में फैसले लेने की अपील की है । एडवाइजर ने मामले की गंभीरता को समझते हुए । चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड चेयरमैन सह वित्त सचिव को मांग पत्र भैजकर अविलंब कार्रवाई का आदेश दिए ।

Share