कुलभूषण गोयल द्वारा शहर वासियों का गार्बेज कलेक्शन चार्ज माफ करने की घोषणा -पंचकूला नगर निगम का आम बजट पास.

पंचकूला।29/2/24, नगर निगम महापौर कुलभूषण गोयल ने शहर वासियों को बड़ी सौगात देते हुए वर्ष 2023-24 का गार्बेज कलेक्शन चार्ज माफ करने की घोषणा कर दी। वीरवार को नगर निगम पंचकूला की बैठक में गार्बेज कलेक्शन चार्ज को लेकर कुछ पार्षदों ने रोष जताया, तो भाजपा के पार्षदों ने मांग की कि इस चार्ज को माफ कर दिया जाए, जिसके बाद इसे माफ करने का निर्णय लिया गया। बजट बैठक में कई मुद्दों आए, जिसे पारित कर दिया गया।
नगर निगम के मेयर कुलभूषण गोयल ने बताया कि सभी मुद्दों पर चर्चा होने के बाद 255 करोड़ रुपये का बजट नगर निगम द्वारा पेश किया गया। इस बजट सत्र में भाजपा, कांग्रेस, जननायक जनता पार्टी एवं निर्दलीय पार्षद और निगम के अधिकारी उपस्थित रहे। उन्होंने कहा कि पंचकूला शहर में डोर टू डोर गार्बेज कलेक्शन के जो चार्ज लिए जा रहे थे, वह साल 2023-24 के लिए माफ कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि कमर्शियल प्रॉपर्टी को छोड़कर रिहायशी क्षेत्र में गार्बेज के चार्ज माफ कर दिए गए हैं। नगर निगम के साथ काम करने वाले सफाई मित्रों के 2 साल की वर्दी के पैसे दिए जाएंगे और उनके बच्चों के लिए 80 प्रतिशत से ऊपर के बच्चों के लिए स्कॉलरशिप का प्रावधान रखा गया है, ताकि उनके बच्चे शिक्षा ले सकें। उन्होंने कहा कि जब हम 3 साल पहले नगर निगम में आए तो 129 करोड रुपये का बजट था और 3 साल के अंदर बजट 255 करोड़ तक पहुंचा दिया है। उन्होंने कहा कि कार्यकाल के पहले साल में 40 करोड़ रुपए विकास कार्यों पर लगाए थे और अब 129 करोड़ रुपये विकास कार्यों में लगेंगे। शहर की पार्कों सफाई और अन्य कामों को लेकर भी बजट में करोड़ों रुपए है। नगर निगम की इनकम को लेकर मोबाइल लाइन और मोबाइल टावर पर चर्चा की गई और उनकी रिकवरी कम थी और फैसला लिया गया कि उनकी रिकवरी बढ़ाई जाएगी और करीब एक हफ्ते के अंदर मोबाइल टावर और मोबाइल लाइन वालो को लेकर नोटिस भी जारी किए जाएंगे ताकि रिकवरी की जा सके। नगर निगम ने वर्ष 2023-2024 का गार्बेज कलेक्शन टैक्स माफ किया। नगर निगम पंचकूला के सफाई कर्मचारियों को दो वर्ष के वर्दी के पैसे देने की घोषणा की। बैठक में 255 करोड़ रुपये का बजट महापौर कुलभूषण गोयल द्वारा पेश किया। कुलभूषण गोयल ने बताया कि इस बजट में नगर निगम पंचकूला द्वारा वर्ष 2024 -25 के लिए प्रस्तावित बजट में एफडीआर से 11 करोड़ 50 लाख रुपये आय का अनुमान है। इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी से 8 करोड़ 50 लाख रुपए, प्रापर्टी टैक्स से 28 करोड़ रुपये, लाइसेंस फीस से 12 लाख रुपये, स्टैंप ड्यूटी से 40 करोड़ रुपये, डेवलपमेंट चार्ज से 2 करोड़ रुपये, रोड कट फीस से 50 लाख रुपये, पार्क ग्राउंड और सामुदायिक केंद्र की बुकिंग फीस से डेढ़ करोड़ रुपये, विज्ञापनों से 10 करोड़ रूपये, टावर केवल लाइसेंस फीस से 10 करोड़ रुपये, मोबाइल लाइंस फीस से 20 करोड़ रुपये, जमीन बेचने की आवाज में 10 करोड रुपये, खनन से 5 करोड़ रुपये, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण से मिलने वाले शेयर से 25 करोड़ रुपये, लीज का जमीन से 50 लाख रुपये, टेंडर फीस से 30 लाख रुपये की आय दिखाई गई है। वहीं एक्सपेंडिचर में 53 करोड़ 59 लाख रुपये, कंटीजेंसी 55 करोड़ 51 लाख रुपये, विकास कार्यों पर 129 करोड़ 77 लाख रुपये, अन्य खर्च 12 करोड़ 48 लाख रुपये दिखाए गए हैं।

Share