लाठी खाया अन्नदाता ही इस सरकार को चलता करेगा : योगेश्वर शर्मा कहा: किसानों कि हर मांग का समर्थन करती है आम आदमी पार्टी.

पंचकूला 27 नवंबर आम आदमी पार्टी के उत्तरी जोन हरियाणा के सचिव योगेश शर्मा का कहना है कि जिस तरह से हरियाणा की सरकार अन्नदाता किसानों पर लाठियां बरसा रही है, वह वक्त भी आएगा जब यही अन्नदाता किसान भी अपनी वोट की चोट कर भाजपा की इस अहंकारी सरकार को चलता करेगा। उन्होंने कहा कि शांति पूर्वक दिल्ली की ओर प्रस्थान कर रहे किसानों पर लाठीचार्ज करवाना, पानी ठंडे पानी की बौछारें करवाना, यह सरकार के अहंकार को दर्शाता है जबकि यह सरकार किसान हितैषी होने का दावा करती है। उन्होंने कहा कि किसानों ने भी भाजपा को वोट दिए थे और सत्ता में लाने में अहम भूमिका निभाई थी, अब यह सरकार उनके प्रति बेरुखी अपनाए हुए हैं तथा उन्हें बर्बाद करने पर तुली हुई है। उन्होंने कहा कि किसान दिल्ली में जाकर अपनी शांतिपूर्ण ढंग से ही बात करना चाहते हैं तो इसमें एतराज क्या है। उन्होंने कहा कि और तो और अब दिल्ली की केंद्र सरकार किसानों का समर्थन करने वाली पार्टियों के नेताओं के खिलाफ भी बदले की भावना से कार्रवाई करने लगी है यही वजह है कि आम आदमी पार्टी के पंजाब प्रभारी एवं विधायक जरनैल सिंह अन्य नेताओं को भी दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है जो कि दुर्भाग्यपूर्ण एवं निंदनीय है।
आज यहां जारी अपने बयान में योगेश्वर शर्मा ने आगे कहा कि आम आदमी पार्टी राष्ट्रीय संयोजक प्रदेश प्रभारी एवं एक-एक कार्यकर्ता पूरी तरह से किसानों के साथ खड़ा है तथा उनकी हर मांग का समर्थन करता है। उन्होंने कहा कि साथ ही आप उनके कंधे से कंधा मिलाकर उनकी हर लड़ाई लड़ने को तैयार है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार से स्टेडियम को जेल बनाने की मंजूरी मांगी थी जिसे आप की सरकार ने यह कहते हुए अस्वीकार कर दिया कि आंदोलन करना और अपनी बात अहिंसक ढंग से शांतिपूर्वक रखना हर इंसान का हक है तो फिर किसानों को उनके इस संविधानिक अधिकार से कैसे वंचित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हरियाणा की मनोहर लाल सरकार ने पूरा प्रदेश आज युद्ध का मैदान बना दिया है। आज करनाल, कुरुक्षेत्र,अंबाला, पानीपत हर जगह रास्ते भर में किसानों को जगह-जगह दिल्ली जाने से रोका जा रहा है। उनके साथ ऐसा व्यवहार किया जा रहा है जैसे वह किसान ना होकर कोई आतंकवादी हो। उन्होंने कहा कि हरियाणा पुलिस उनको रोकती है,वाटर कैनन का प्रयोग करती है, अश्रु गैस के गोले छोड़ती है,उन पर लाठीचार्ज करती है, सड़क खोद देतीं है। उन्होंने कहा कि देश का अन्नदाता दिल्ली अपनी बात कहने के लिए आना चाहता है। सरकार को उनकी बात सुनने में ऐतराज़ क्यों है, यह बात समझ से परे है । उन्होंने कहा कि किसानों की जो यह अनदेखी तीन काले कानून बनाकर की गई है, इसकी आम आदमी पार्टी पुरजोर निंदा करती है। संसद में भी यह किसान विरोधी बिल गलत तरीके से पास करवाया गया था और आज सड़क पर भी उनकी बात नहीं सुनी जा रही है। सरकार जानबूझकर पुलिस और किसानों के बीच टकराव की स्थिति लाकर उन्हें अपराधी बनाने पर तुली हुई है। पुलिस की ओर से भी कई किसान नेताओं पर झूठे केस बनाए गए हैं ताकि उनके आंदोलन को दबाया जा सके। उन्होंने कहा कि जब आप देश के अन्नदाता की बात नहीं सुनना चाहते तो आम आदमी की बात कहां सुनेंगे।

Share