भारतीय संविधान दिवस : *भारतीय संविधान में मिला समानता का अधिकार : उपायुक्त

पंचकूला, 26 नवंबर
71वें संविधान दिवस के उपलक्ष्य में गुरूवार को पंचकूला जिला प्रशासन सहित अन्य विभागों में भारतीय संविधान की उद्देशिका पढ़ते हुए संविधान के प्रति आस्था जताई। जिला में उपायुक्त मुकेश कुमार आहुजा के मार्गदर्शन में जिला मुख्यालय पर सचिवालय सभागार में भारतीय संविधान के निर्माता बाबा साहेब डा.भीमराव अंबेडकर को याद करते हुए उन्हें नमन किया।
जिला में सभी प्रशासनिक अधिकारियों ने कर्मचारियों को भारतीय संविधान के प्रति सत्य व कर्तव्य निष्ठा बनाए रखने के लिए प्रेरित किया। भारतीय संविधान की विशेषता है कि देश के सभी नागरिकों को बराबर के अधिकार मिले हैं, संविधान के अनुसार कोई भी नागरिक छोटा या बड़ा नहीं है। भारतीय संविधान देश को संपूर्ण प्रभुत्व-संपन्न, समाजवादी, पंथ निरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए अपने समस्त नागरिकों को सामाजिक,आर्थिक और राजनीतिक न्याय, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता, प्रतिष्ठïा व समता का अवसर प्रदान करता है। उपायुक्त ने कहा कि भारतीय संविधान समता,न्याय व समरसता का प्रतीक है। संविधान सभा ने व्यक्ति की गरिमा, राष्ट्र की एकता व अखंडता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढ़ाने के लिए दृढ़ संकल्प होकर 26 नवंबर 1949 को अनुपम संविधान देशवासियों को समर्पित किया।
उपायुक्त ने कहा कि सभी अधिकारी व कर्मचारी संविधान की मूल भावना को आत्मसात करते हुए स्वतंत्रता सेनानियों के सपनों को साकार करने का कार्य करें। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी व कर्मचारी संविधान दिवस पर पढ़ी गई उद्देशिका को अपने दायित्व निर्वहन के समय सार्थक करते हुए बिना किसी भेदभाव व निष्पक्ष भाव से कार्य करें।

Share