बिजली बिलों को लेकर जनता को प्रताडि़त कर रही भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतिया:-प्रदीप चौधरी.

कालका, 21 दिसम्बर। भाजपा को जनता ने प्रदेश की सत्ता के सिंहासन पर इसलिए नही बिठाया कि वो विवादों को जन्म दे, बल्कि विकास, रोजगार, बिजली-पानी जैसी मुलभुत जरूरतों को पूरा करने के लिए सरकार चुनी, लेकिन सरकार विवादों पर ज्यादा जोर दे रही है। आज एक तरफ जहां नगर निगम विवाद को जन्म देकर विकास, बेरोजगारी जैसे मुद्दों को दबाने का काम किया जा रहा है, वहीं सरकार अपने एक भी वायदे पर खरा नही उतरी। यह आरोप इनेलो के कालका विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक एवं पंचकूला जिलाध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने लगाए।
पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी ने सरकार की तीखी आलोचना करते हुए कहा कि कालका शहर में अस्पताल का दर्जा बढऩा चाहिए, अस्पताल और माता काली देवी मंदिर में पार्किंग की पर्याप्त व्यवस्था नही है, जिसके चलते यहां आने वाले लोग परेशान होते है। प्रदीप चौधरी ने कहा कि बिजली के बिलों का वितरण जब से सरकार ने प्राईवेट कंपनियों को दिया, तब से लोगों की समस्याएं बहुत ज्यादा बढ़ गई, एक तरफ जहां रीडिंग की खामियों के चलते लोगों के लाखों के बिल आ रहे है, वहीं बिजली बिल एक महीने का तो कहीं दो महीने का आता है। सरकार को सभी के लिए एक पॉलिसी रखनी चाहिए, सरकार के ऐसा करने से भी लोग परेशान हो रहे है। उन्होंने कहा कि बिल का वितरण सही ढंग से नही होता, जो कंपनी के लोग है, वो लोगों तक न तो सही समय पर बिल पहुंचा पा रहे है, जिसके चलते लोगों को बिल भुगतान में देरी पर जुर्माना भरना पड़ रहा है। सरकार खामियों को दूर करने के लिए बिना सोच के फैसले तो ले लेती है, लेकिन उन फैसलों से उल्टा जनता को परेशानी उठानी पड़ती है।
प्रदीप चौधरी ने केन्द्र और राज्य सरकारों के स्वच्छता अभियान को मात्रा एक नौटंकी बताया, उन्होंने कहा कि सरकार लोगों को तो स्वच्छता पर जागरूक करने की बातें करती है, लेकिन नगर निगम में गांवों में सफाई व्यवस्था को तरूस्त करने के लिए पुरा स्टॉफ नही देती है, जिसके चलते गांवों की बात तो दूर अब तो कालका शहर भी गंदगी से भरा पड़ा है। बाजार में संयुक्त शौचालय का प्रबंध नही है, इसके साथ ही सबसे गंभीर समस्या कालका-पिंजौर से चंडीगढ़-पंचकूला व अन्य स्थानों पर बच्चों को स्कूल-कॉलेज आने-जाने के लिए बसों की कमी के चलते रोज अपनी जेब से निजी वाहनों में किराया देकर स्कूल कॉलेज जाना पड़ रहा है, सरकार इस समस्या पर भी ध्यान दें।
Share