नगर निगम ओर ट्रैफिक पुलिस ने स्पेशल ड्राइव चलाई , एम सी ने इस स्टाइल से गाड़ियां उठाईं कि किसी का बंपर तोड़ दिया तो किसी का कुछ और नुकसान.

चंडीगढ़-13/12/17,। सेक्टर-34 में रॉन्ग पार्किंग में खड़ी गाड़ियों को उठाने के लिए बीते मंगलवार को नगर निगम ओर ट्रैफिक पुलिस ने स्पेशल ड्राइव चलाई थी। एमसी ने इस स्टाइल से गाड़ियां उठाईं कि किसी का बंपर तोड़ दिया तो किसी का कुछ  और नुकसान कर दिया। एमसी की इस कार्रवाई की शहर के लोगों ने कड़ी निंदा की है। इस बारे में शहर के सोशल वर्कर गोयल का कहना है कि वे पिछले करीब एक साल से इसी कंसेप्ट पर काम कर रहे हैं जिससे रॉन्ग पार्किंग में खड़ी गाड़ियों को टो करने से पहले उन्हें फोन किया जा सके ताकि लोगों को भी परेशानी न हो। गोयल का कहना है कि अगर मौके पर वाहन मालिक का मोबाइल नंबर पुलिस को मिल जाए तो ऐसी परेशानी को दूर किया जा सकता है।
गोयल का कहना है कि उन्होंने एक सॉफ्टवेयर तैयार किया है जिसके जरिए गाड़ी के ऑनर का मोबाइल नंबर पता लगाया जा सकता है ताकि अगर वे रॉन्ग पार्किंग में गाड़ी खड़ी करे तो उसे फोन कर बुलाया जा सके। उनका कहना है कि जय स्मार्ट आइडिया की टीम काफी समय से इस कंसेप्ट को शहर में लागू करने के लिए ट्रैफिक पुलिस के अफसरों से मिल रही है। गोयल का कहना है कि अगर उनके कंसेप्ट को अपनाया होता तो लोगों को ऐसी परेशानी न होती जो मंगलवार को सेक्टर-34 में हुई।
इसके अलावा पुलिस और एमसी के स्टाफ को भी दो घंटे तक अनाउंसमेंट न करनी पड़ती।
-शहर के लोगों को होगा फायदा…
इस बारे में अग्रवाल परिवार संगठन के प्रधान विजय बंसल( 9872811419) का कहना है कि जय स्मार्ट आइडिया का कंसेप्ट शहर के फ्यूचर के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा। इससे न सिर्फ लोगों को बल्कि प्रशासन और ट्रैफिक पुलिस को भी मदद मिलेगी। बंसल का कहना है कि ये कंसेप्ट शहर की जनता के हित को देखकर तैयार किया गया है।
-हमारी हर मीटिंग में उठता है पार्किंग का मुद्दा…
(Satish chander sharma , chairman group housing cooperative socities welfare coucil ,chd. 9888255128 )का कहना है कि उनकी हर मीटिंग में शहर में बढ़ रही पार्किंग की समस्या पर बात होती है।. का कहना है कि जय स्मार्ट आइडिया के कंसेप्ट से शहर में पार्किंग की समस्या को काफी हद तक दूर किया जा सकता है।
(The app developed by the  young team at… Is likely  to help the police and civic bodies to check the menace of the wrong parking which causes traffic bottlenecks and inconvenience to the general public. The app could have saved loss lo public property  and mess that resulted due to the challaning spree ofi the MCC in unauthorized parking slots yesterday in sector 34.)
-प्रशासन साथ दे तो 45 दिनों में शहर को जोड़ देंगे इस कंसेप्ट से…
अरुण गोयल(9256196005) का कहना है कि यदि प्रशासन और पुलिस जनता को ये आश्वासन दे कि भविष्य में गाड़ी को टो करने से पहले वाहन मालिक को फोन कर लिया जाएगा तो वे शहर की 10 लाख आबादी को इस कंसेप्ट से जोड़ सकते हैं। गोयल का कहना है कि वे 45 दिनों में शहर के को इस कंसेप्ट से जोड़ने की कोशिश करेंगे। इससे लोगों को काफी राहत होगी।
-इस कंसेप्ट से खत्म हो सकती है कि पार्किंग प्रॉब्लम…
यूथ इनोवेटिव सोसायटी के चेयरमैन सचिन शर्मा(9872511422) कहना है कि इस कंसेप्ट से शहर में पार्किंग की प्रॉब्लम को दूर किया जा सकता है। अगर लोग रॉन्ग पार्किंग में गाड़ी खड़ी कर चले जाते हैं। इससे और लोगों को भी परेशानी होती है। अगर जय स्मार्ट आइडिया के कंसेप्ट पर काम किया जाए तो ये परेशानी काफी हद तक कम की जा सकती है। जो भी रॉन्ग पार्किंग में गाड़ी खड़ी करके जाएगा, उसे कम से कम फोन कर मौके पर बुलाया तो जा सकता है।
             Jai smart idea team will try to present this “Wrong Parking Problem Solution ” concept in the office of his exellency Governor  V P Badnour ji. Bcz before some days during a programme  Governor sahab demand for a solution to wrong parking problem.
Share