शहीद कैप्टन रोहित कौशल के स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित कर उन्हें 22वें बलिदान दिवस पर श्रद्धांजलि अर्पित की तथा उनकी शहादत को नमन किया।

पंचकूला /बरवाला 11 नवंबर- पंचकूला के विधायक एवं मुख्य संचेतक श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने जिला के अंतर्गत पडऩे वाले गांव जलौली में बने शहीद कैप्टन रोहित कौशल के स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित कर उन्हें 22वें बलिदान दिवस पर श्रद्धांजलि अर्पित की तथा उनकी शहादत को नमन किया।
इस अवसर पर जिला प्रशासन की ओर से उपायुक्त गौरी पराशर जोशी, टेरिटोरियल के ब्रिगेडियर विनोद भ्भादु, नगर निगम की मेयर उपिंदर कौर आहलुवालिया, अतिरिक्त उपायुकत मुकुल कुमार, भाजपा के जिला प्रधान दीपक शर्मा, तहसीलदार वरिंदर गिल्ल, जिला सैनिक बोर्ड के सचिव कर्नल नरेश, जिला लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति के सदस्य हरिंदर मलिक, सकूल की प्रिंसीपल सुश्मा शर्मा, पार्षद सलीम खान, 18 पंजाब के सूबेदार हरदीप सिंह, सूबेदार बलतेज सिंह, सूबेदार चन्द्रपाल सिंह, मेजर विक्रांत, ने भी शहीद कैप्टन रोहित कौशल के स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस श्रद्धांजलि समारोह में सुरेन्द्र राणा, शहीद के पिता एसएस कौशल, उनकी माता वीना कौशल तथा परिवार के अन्य सदस्यों व रिश्तेदारों सहित बड़ी संख्या में गांव जलौली के लोगों तथा इस क्षेत्र के आस-पास के गणमान्य व्यक्तियों, विभिन्न राजनैतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों ने शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित की।
श्री गुप्ता ने कहा कि शहीद कैप्टन रोहित कौशल 10 व 11 नवंबर 1995 को जम्मू कश्मीर के डोडा जिला में उग्रवादियों के साथ मुठभेड़ में देश की रक्षा करते हुए शहीद हुए थे। वे कंपनी कंमाडर थे, जिन्होंने बड़ी वीरता एवं निडरता से उग्रवादियों को सामना किया तथा सीने में गोलियां लगने के बाद भी दो उग्रवादियों को ढेर कर दिया था। भारत सरकार ने उनकी वीरता के लिए मरणोपरांत शौर्य अवार्ड से सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि शहीद कैप्टन रोहित की शहादत से न सिर्फ देश व अपने माता-पिता को गौरवांवित किया, बल्कि वे देश व प्रदेश के युवाओं के प्रेरणास्रोत भी बने। देश सेवा में शहीद होने वाले ऐसे वीरों पर हमें नाज है।
उन्होंने कहा कि शहीद कैप्टन रोहित अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था और 27 वर्ष की आयु में आज के दिन शहीद हुए थे। उन्होंने कहा कि उनके माता-पिता सौभाग्यशाली हैं, जिनके बेटे ने देश के लिए कुर्बानी दी और वह पूरे देश के युवाओं के लिए प्रेरणादायी बने। उन्होंने कहा कि हमें देश के ऐसे वीरों पर नाज है।

Share