बच्चों मे आसीम ताकत एवं साहस होता है- गुप्ता

पंचकूला, 27 अक्तूबर- बच्चों मे आसीम ताकत एवं साहस होता है, यदि उन्हें प्रारंभिक जीवन से ही उचित मार्गदर्शन एवं संस्कार मिले तो वे देश के अच्छे नगारिक बनकर ऐ आदर्श समाज एवं राष्ट्र के नवनिर्माण में अहम भूमिका निभा सकते हैं और समाज से जुड़ी समस्याओं का भी अपने आप समाधान हो सकता है।
ये बात हरियाणा कोर्डिनेशन एवं निगरानी समिति के प्रधान सचिव टीसी गुप्ता ने जिला के अंर्तगत पडऩे वाले गवाही गांव में अपने दौरें के दौरान लोगोंं की समस्याएं सुनते हुए कहे। उन्होंने कहा कि हम सभी की सामुहिक रूप से जिम्मेदारी बनती है कि हम अपने बच्चों क ी शिक्षा की ओर विशेष ध्यान दें तभी हम एक शिक्षित समाज की कल्पना कर सकते हैं। उन्होंने बच्चें के अभिभावकों एवं सरपंचों से विशेष तौंर पर आग्रह करते हुए कहा कि अपने बच्चें के शिक्षा के प्रति सचेत रहे और स्कूलों में होने वाली अभिभावकोंं की मासिक बैठक में अवश्य ही उपस्थित होकर बच्चों की पढ़ाई लिखाई के बारे में संबधित शिक्षक से बच्चे की शिक्षा के बारे में पूछताछ करें और यदि कहीं उनकी शिक्षा में कमियां पाई जाती है तो उसके बारे में अध्यापक से पूछे कि ऐसा क्यों हो रहा है। यदि अभिभावक हर बैठक में अपने बच्चे से संबधित अध्यापक से शिक्षा के बारे मे पूछताछ करेंगे तो अवश्य ही उस अध्यापक पर दबाव बनेगा और बच्चे की शिक्षा में भी बेहतर सुधार आएगा।
उन्होंने कहा कि मोरनी जैसे पहाड़ी क्षेत्र में काफी समस्याएं हैं और इनके समाधान के लिए यह जरूरी है कि वे अपने बच्चों को गुणवत्ता की शिक्षा उपलब्ध करवाएं। ऐसा करने से समाज से छोटी-मोटी समस्याओं का समाधान अपने आप हो जाएगा। उन्होंने कहा कि ठंडोग में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय का स्वयं दौरा करने पर पाया कि बच्चों शिक्षा के क्षेत्र में काफी पीछे हैं और गत मास हुए स्कूलों में हुए परीक्षा के परिणाम को देखा गया तो कोई भी बच्चा 50 प्रतिशत से उपर अंक प्रपत नही कर पाया। उन्होंने कहा कि गवाही गांव की बेटी वंदना ठाकूर जोकि आगे शिक्षा ग्रहण करना चाहती है मगर उसके सामने आथर््िाक संकट है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि इस बेटी को उच्च शिक्षा दिलाने के लिए निजी तौर पर व्यवस्था करेंगे। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार एक बच्चे की शिक्षा पर काफी खर्च करती है इसके साथ-साथ शिक्षक को भी 50 हजार से अधिेक वेतन मिलता है लेकिन ऐसी परिसिथतियों में बच्चे गुणात्मक शिक्षा प्राप्त नही कर पाते तो बड़े खेद की बात है। इसके लिए बच्चोंके अभिभावकों की कमिया है क्योंकि वे अपेन बच्चों का स्कूल में जाकर उनकी शिक्षा का निरीक्षण नही करते। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार अनुसूचित जाति के बच्चों को उच्च शिक्षा कही पर भी प्राप्त करने के लिए 2 करेाड़ 30 लाख रूपए खर्च करती है।
उन्होंने गवाही एवं आसपास के लोगों द्वारा रखी हुई पीने के पानी की समस्या की मांग का समाधान करते हुए कि संबधित विभाग द्वारा 1 करोड़ रूपए की परियोजना साधू का खील में तैयार की गई है और इस संबध में 3 बूस्टर बनाकर लोगों को पीने का पानी उपलब्ध करवाया जाएगा। इसके साथ-साथ विभाग द्वारा 80 लाख रूपए की परियोजना तैयार की गई है जिसके तहत लोगों को पानी उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि 30 दिसंबर तक 7 हैंडपंप भी गांवों में उनकी मांग पर लगाए जा रहे हैं।
इसके साथ-साथ सिंचाई के पानी के लिए लोगोंं द्वारा टैंक निर्माण की मांग पर वन विभाग के डीएफओ पवन शर्मा ने 30 नवंबर तक गवाही गांव में सिंचाई के टेँक बनवाने का आश्वासन दिया। इसके साथ उन्होंने 5 कच्चे रास्ते बनाने का भी आश्वासन लोगों क ो दिलवाया। लोगों द्वारा बिजली की समस्या से भी प्रधान सचिव को अवगत करवाया गया जिस पर उन्होंने संबधित अधिकारी से बात चीत कर लोगों को बताया कि शिवालिक विकास बोर्ड के माध्यम से 2 करोड़ 14 लाख रूपए की राशि उपलब्ध करवा दी गई है और इस परियोजना से इस क्षेत्र की 110 ढाणियों को प्रकाशमय किया जाएगाञ उन्होंने बताया कि इस दिशा में 20 प्रतिशित कार्य हो चुका है। उन्होंने बागवानी विभाग माध्यम से चलाई जा रही विभिन्न स्कीमों के बारे में भी संबधित अधिकारी के माध्यम से अवगत करवाया। युवा किसान मोहन लाल को टमाटर की खेती के लिए 32 हजार 250 रूपए एक एकड़ के लिए बागवानी अधिकारी को प्राथमिकता के आधार पर उपलब्ध करवाने के निर्देश भी दिए । इसके साथ साथ युवा किसान जोकि पोली हाउस का कार्य करने के लिए जब पूछा तो उसने बताया कि मेरी यह कार्र्य करने की पूणर््तया इच्छा है लेकिन आथर््िाक तंगी के चलते सरकार की इस स्कीम का लाभ उठाने में असमर्थ है। इस पर प्रधान सचिव ने कहा कि वे उसे अपना अकाउ्रट नंबर दे और कल तक वे अपने कोष से 1 लाख रूपए की राशि उसके अकांउट में जमा करवा देंगे और जब वह इस कार्य से कमाएगा तो वह इस राशि को बिना बयाज के उन्हें लौटा सकता है।

इस अवसर पर जिला उपायुक्त गौरी पराशर जोशी ने बताया कि इस कार्यक्रम में विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने हरियाणा सरकार द्वारा उनके विभाग के माध्यम से चलाई जा रही जिन स्कीमों की जानकारी दी गई है उनका वे समय रहते लाभ उठाएं। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन गवाही गांव में अधिर से अधिक विकास कार्य करवाने के लिए प्रयासरत है ताकि इसे आदर्श गांव के रूप में विकसित किया जा सके। उन्होंने कहा कि मोरनी में स्थित महिला बहुतकनीकि संस्थान में अगा्रमी 30 नवंबर से 30 लड़कियों का पहला कंप्यूटर प्रशिक्षण बैच श्ुारू किया जा रहा है। यदि गवाही की बेटियां भी इस प्रशिक्षण प्राप्त करना चाहती है तो वे ले सकती हैं। इस मौके पर प्रधान सचिव, उपायुक्त एंव अतिरिक्त उपायुक्त ने गवाही में पौधारोपण किया तथा गवाही में स्थित अंगनवाड़ी केंद्र का निरीक्षण भी किया। इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त मुकुल कुमार, एसडीएम पंकज सेतिया, जिला परिषद की मुख्य कार्याकारी अधिकारी शशि वसुंधरा, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी राजबीर खुंडिया, बीडीपीओ दलजीत सिंह, जिला शिक्षाधिकारी एचएस सैणी, बलदेव राणा, सरपंच चंपा देवी, सरपंच वीरेन्द्र राणा, सुरेश पाल, मंडल अध्यक्ष तेज पाल सहित सभी विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

Share