पुलिस शहीद दिवस के अवसर पर शहीद जवानों को शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी

पंचकूला, 21 अक्तूबर- हरियाणा पुलिस महानिदेशक बीएस सिंधु व पुलिस विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने आज नग्गल मोंगीनंद स्थित पुलिस लाइन में पुलिस शहीद दिवस के अवसर पर शहीद जवानों को शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।
पुलिस महानिदेशक बीएस सिंधु ने पुलिस शहीदी दिवस के अवसर पर आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि आज का दिन न केवल हरियाणा पुलिस के लिए बल्कि समस्त भारतीय पुलिस के लिए एक प्रेरणादायक दिवस है जो हमें उन 370 बहादुर और जाबाज पुलिस जवानों और अधिकारियों की याद दिलाता है, जिन्होंने अपने देश, प्रदेश व सीमाओं पर देश की सुरक्षा के लिए कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए और खतरनाक अपराधियों का मुकाबला करते हुए अपने अमूल्य प्राणों को देश पर बलिदान किया।
उन्होंने कहा कि आज से 55 वर्ष पूर्व इस दिन केंद्रीय सुरक्षा पुलिस बल के दस बहादुर जवानों ने आत्मसमर्पण करने की वजाय मृत्यु का चुना। उन्होंने चीनी आक्रमणकारियों का डटकर मुकाबला किया और देश के लिए अपना सर्वोच्चय बलिदान दिया। हर वर्ष हम सभी उनके बलिदान को याद करते हुए इस दिन को बलिदान दिवस के रूप में आयोजित कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित करते है। उन्होंने कहा कि हमें अपनी सीमाओं की सुरक्षा के साथ साथ आंतरिक मामलों पर भी नजर रखनी पड़ती है ताकि देश के अंदर और हमारी सीमाओं पर शांति बनी रहे। इस संवेदनशील कार्य को सफल बनाने में सेना के साथ-साथ सभी राज्यों की पुलिस और दूसरे अर्थसैनिक बलों की भूमिका अति महत्वपूर्ण है।
उन्होंने कहा कि हमने अन्य देशों से समर्थित आतकंवादी गतिविधियों को नियंत्रण में रखने के लिए ऐसी रणनीति बनाई है, जिससे विगठनकारी चुनौतियों का सामना करते हुए राष्ट्र समपति को नुकसान से बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि कत्र्तव्य की सही पालना को जो सिपाही अपना धर्म समझते है, उनके लिए हंसते-हंसते मौत से खेल जाना कोई नई बात नहीं होती। आज का यह शहीदी दिवस देश के अब तक शहीद होने वाले सभी साहसी जवानों को समर्पित है। उन्होंने शैल्यूट करते हुए उन माताओं को, जिन्होंने ऐसे बहादुरों को जन्म दिया जो समस्त देश के लिए गौरवमयी व प्रेरणादायक उदाहरण बन गए। ऐसे बलिदानों से हमारे देश का इतिहास भरा पड़ा है। खाकी वर्दी का रंग भी हमें अपने कत्र्तव्य का बोध करवाते हुए खाक में मिल जाने की ही प्रेरणा देता है।
उन्होंने कहा कि आज के दौर में हमारा देश चहुमुखी प्रगति के पथ पर अग्रसर है। हमारी इस प्रगति से ईष्या रखने वाले असामाजिक तत्व, अग्रवाद व अलगवाद का नारा देकर हमारे देश की शांति व सुरक्षा को भंग करने का प्रयास करते रहते है। संकट की घड़ी में देश और प्रदेश का प्रत्येक नागरिक वर्दी पहने सिपाही और देश की सीमा पर तैनात फौजी पर ही भरोसा करता है, इस भरोसे का कायम रखने के लिए हमें कत्र्तव्य पालन करते हुए याद रखना चाहिए कि हम जनता के सेवक है।
पत्रकारों द्वारा पुलिस कल्याण के लिए पूछे गए प्रश्र के उत्तर में उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मचारियों के कल्याण के लिए अनेक गतिविधिया चलाई जा रही है। पुलिस मुलाजिमों के लिए आवास की सुविधा प्रदान की जा रही है। इसके साथ साथ नए पुलिस स्टेशन व पुलिस चौकियों को निर्माण करवाया जा रहा है। पुलिस में 12 हजार नई भर्तीया की जाएगी। भर्ती होने के पश्चात पुलिस कर्मियों को सिस्टम वाईज छुटिया प्रदान की जाएगी। एक अन्य प्रश्र के उत्तर में उन्होंने कहा कि गत दो महीने में प्रदेश में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने में पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने संयम के साथ शांति बनाए रखने में जो योगदान दिया है, वह सहरानीय है।
इस अवसर पर पुलिस विभाग के उच्च अधिकारियों सहित अधिकारी एवं पुलिस जवान उपस्थित थे।

Share