चहुमुखी विकास के साथ-साथ अन्य सभी मूल-भूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने की दिशा में अधिकारियों की आयोजित बैठक

पंचकूला, 6 सितंबर- उपायुक्त गौरी पराशर जोशी ने जिला सचिवालय के सभागार में जिला के अंतर्गत पडने वाले तीन गोंवों जिनमें भरेली, गवाही व मोरनी खण्ड के गांव गवाही शामिल हैं। इन गांवों में विभिन्न विभागों द्वारा चहुमुखी विकास के साथ-साथ अन्य सभी मूल-भूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने की दिशा में अधिकारियों की आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए विभिन्न विभागों द्वारा इन गांवों में की गई गतिविधियों की विस्तार से समीक्षा की।
उपायुक्त ने इन गांवों में बेरोजगारों को सक्षम योजना के तहत रोजगार उपलब्ध करवाने, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, बुढापा व अन्य पेंशन, खेल गतिविधियां, बच्चों को शिक्षा विभाग की ओर से दी जाने वाली स्कॉलरशिप, स्कूलों के रास्ते, स्वास्थ्य सेवाएं, डेयरी फार्मिंग, बागबानी,फसल बीमा योजना, स्वच्छ पेयजल सुविधा, कृषि संबंधित गतिविधियां, पशु पालन, मनरेगा, अटल पेंशन योजना,प्रधानमंत्री जन-धन योजना, मुद्रा योजना, अक्षय ऊर्जा, आधार लिंक, सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राशन वितरण तथा अन्य विभागों द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं तथा राज्य व केन्द्र सरकार की विभिन्न स्कीमों की गतिविधियों की भ्भी गहन रूचि लेकर समीक्षा की।
उन्होंने जिला स्तर पर बनाए गए फार्मेट की तरह इन गांवों का भी फार्मेट तैयार करने को संबंधित अधिकारी को कहा। इसके अलावा विभिन्न विभागों द्वारा चलाई जा रही समाज कल्याण स्कीमों की बुकलेट भी तैयार करने के लिए विशेष तौर पर कहा। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को विशेष तौर पर कहा कि वे स्वास्थ्य जांच शिविर लगा कर इन गांवों में बच्चो के स्वास्थ्य की जांच करें। उन्होंने कहा कि अगले सप्ताह मोरनी के अंतर्गत पडऩे वाले गांव गवाही में शिविर भ्भी आयोजित किया जाएगा।
इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त राजेश जोगपाल ने कृषि व बागबानी विभाग के अधिकारियों को परामर्श देते हुए कहा कि वे इन विभागों के प्रगतिशील किसानों का भ्रमण भी अवश्य करवाएं। इसके साथ-साथ बागबानी विभाग इन गांवों में फलदार पौधे भी लगवाना सुनिश्चित करे ताकि किसानों की आय को बढाया जा सके।
बैठक में एसडीएम कालका रिचा राठी, जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी शशी वसुंधरा, राजीव प्रसाद, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी राजबीर सिंह खुंडिया, जिला शिक्षा अधिकारी एचएस सैनी, मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी कृतिका चौधरी, मुनीष जयसवाल, सभी विभागों के अधिकारियों सहित लीड बैंक के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

Share