इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना के तहत शुक्रवार को माता मनसा देवी मंदिर स्थित सत्संग भवन में एक दिवसीय जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन.

पंचकूला, 17 जून- महिला एवं बाल विकस विभाग की ओर से इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना के तहत शुक्रवार को माता मनसा देवी मंदिर स्थित सत्संग भवन में एक दिवसीय जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें विभाग की निदेशक रेनू फुलिया मुख्यातिथि रही।
विभाग की निदेशक रेनू फुलिया ने कार्यक्रम मेंं उपस्थित आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए बताया कि इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना पंचकूला जिला में पायलट परियोजना के रूप में चलाई जा रही है, जिसके अंतर्गत गर्भवती एवं दूध पिलाने वाली माताओं को लाभ प्रदान किया जाता है। इस योजना के तहत माताओं को 6 हजार रुपये की राशि दो किस्तों में दी जाती है। इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए गर्भवती महिलाओं को अपने गर्भवती होने की जानकारी के बाद जितनी जल्दी हो सके अपने नजदीकी आंगनवॉड़ी केंद्र में अपना नाम पंजीकृत करवाएं। यह स्कीम गर्भवती एवं धात्री महिलाओं के स्वास्थ्य एवं पोषण के लिए सहशर्त मातृत्व लाभ के लिए चलाई जा रही है। इसके अंतर्गत पहले दो जीवित बच्चों के जन्म तक 19 वर्ष या इससे अधिक आयु की गर्भवती महिलाओं को गर्भवास्था की तीसरी तिमाही से बच्चे की छह माह आयु होने तक 6 हजार रुपये की नकद प्रोत्साहन राशि सीधे खाते में प्रदान की जाती है। उन्होंने कार्यक्रम में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को स्वच्छता अभियान की शपथ भी दिलाई।
कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग के डा. सुरेश दलपत ने बच्चों को खिलाने, अलका ने प्रसव पूर्व लिंग जांच, कमलेश राणा ने आईजीएमएसवाई योजना के बारे में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को जागरूक किया। जिला कार्यक्रम अधिकारी बलजीत कौर ने संतुलित आहार व उसके स्रोतों के जानकारी दी तथा इस स्कीम को सही तरीके से चलाने के बारे में बताया और कहा कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ता लाभार्थियों का नाम समय पर रजिस्टर में दर्ज करें, ताकि उसे समय पर लाभ मिल सके। इस अवसर पर अतिरिक्त निदेशक शशि दून भी उपस्थित थी।

Share