पत्रकार सामान दिवस का आयोजन

पंचकूला , 5 जून
पंचनद शोध संसथान तथा विश्व संवाद केंद्र की पंचकूला इकाई द्वारा सैकटर 12 ए स्थित रोटरी भवन में महर्षि नारद जयंती के उपलक्ष्य में पत्रकार सामान दिवस का आयोजन किया गया। समारोह में पंचकूला की उपायुक्त डॉक्टर गरिमा मित्तल ने मुख्य अतिथि, मुख्यमंत्री हरियाणा के मीडिया सलाहकार अमित आर्य ने विशिष्ट अतिथि के तौर पर शिरकत की। आज के कार्यक्रम का उद्देश्य महर्षि नारद जो की सृष्टि के प्रथम संवाददाता हैं, उन्ही के दिखाये मार्ग पर आज के पत्रकार े समाज कल्याण के उसी भाव से अपना कार्य उसी पर आधारित था। इस अवसर पर पंचकूला जिले के सभी पत्रकारों को संस्थान द्वारा स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि डाॅ गरिमा मितल उपायुक्त पंचकूला ने कहा कि पत्रकार की लेखनी मनुष्य के भावों ओर संदर्भों में परिवर्तन लाने में सबसे अहम भूमिका निभाते हैं। व्यक्तिगत अनुभव बताते हुए कहा कि समाचार पत्रों के बिना जीवन खाली लगता है। उन्होंने आज के पत्रकारों से सकारात्मक पक्ष की पत्रकारिता पर बल देने का आहवान् करते हुए कहा कि सकारात्मका से जीवन को नई दिशा मिलती है।
मुख्यमंत्री हरियाणा के मीडिया सलाहकार अमित आर्य ने कहा कि वे स्वयं एक पत्रकार रहे हैं ओर उनका सभी पत्रकार साथियों से यही अनुरोध है कि वे आपस में भी मिलजुलकर रहे ताकि उनके मान सम्मान में और वृद्वि हो। पत्रकारों द्वारा पंचकूला में प्रैस कल्ब के लिए स्थान दिए जाने की मांग रखी, जिस पर उन्होंने कहा कि पंचकूला जिले के जिमखाना कल्ब आदि में पत्रकारों के बैठने की व्यवस्था कराए जाने की मांग पर विचार करेंगे।
कार्यक्रम में डाॅ एम0 डी0 पांडे जी ने देवर्षि नारद पर विचार रखते हुए कहा कि नारद जी विश्व के प्रथम संवाददाता रहे। उन्होंने समाज कल्याण के लिए संवादों को एक से दूसरे पक्ष तक पहंुचाने की अहम भूमिका निभाई। वे निर्भीक पत्रकारिता के लिए भी जाने जाते है। अडिगता उनके कार्योे से झलकती है।
इस अवसर पर पंजाब विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति के0 एम0 पाठक ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की ओर कहा कि पत्रकारिता का कार्य चुनौती पूर्ण है। पत्रकारों को सरकार व समाज की ओर से समय समय पर सम्मान मिलते रहना चाहिए ओर जो पत्रकारिता को कलंकित करते हैं ,उनको इस व्यवसाय से दूर किया जाना चाहिए।
इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार श्री राधेश्याम शर्मा ने सृष्टि के पहले पत्रकार देवऋषि नारद द्वारा प्रतिपादित पत्रकारिता के सिद्धान्तों का विस्तार से वर्णन किया। उन्होंने कहा कि देवऋषि ने संवाद के क्षेत्र में उच्च मूल्यों को स्थापित किया, जिनकी आज की पत्रकारिता को बेहद जरूरत है।
इस अवसर पर जिले के सभी पत्रकारों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया ।

Reply Reply to All Forward More किया गया। समारोह में पंचकूला की उपायुक्त डॉक्टर गरिमा मित्तल ने मुख्य अतिथि, मुख्यमंत्री हरियाणा के मीडिया सलाहकार अमित आर्य ने विशिष्ट अतिथि के तौर पर शिरकत की। आज के कार्यक्रम का उद्देश्य महर्षि नारद जो की सृष्टि के प्रथम संवाददाता हैं, उन्ही के दिखाये मार्ग पर आज के पत्रकार े समाज कल्याण के उसी भाव से अपना कार्य उसी पर आधारित था। इस अवसर पर पंचकूला जिले के सभी पत्रकारों को संस्थान द्वारा स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि डाॅ गरिमा मितल उपायुक्त पंचकूला ने कहा कि पत्रकार की लेखनी मनुष्य के भावों ओर संदर्भों में परिवर्तन लाने में सबसे अहम भूमिका निभाते हैं। व्यक्तिगत अनुभव बताते हुए कहा कि समाचार पत्रों के बिना जीवन खाली लगता है। उन्होंने आज के पत्रकारों से सकारात्मक पक्ष की पत्रकारिता पर बल देने का आहवान् करते हुए कहा कि सकारात्मका से जीवन को नई दिशा मिलती है।
मुख्यमंत्री हरियाणा के मीडिया सलाहकार अमित आर्य ने कहा कि वे स्वयं एक पत्रकार रहे हैं ओर उनका सभी पत्रकार साथियों से यही अनुरोध है कि वे आपस में भी मिलजुलकर रहे ताकि उनके मान सम्मान में और वृद्वि हो। पत्रकारों द्वारा पंचकूला में प्रैस कल्ब के लिए स्थान दिए जाने की मांग रखी, जिस पर उन्होंने कहा कि पंचकूला जिले के जिमखाना कल्ब आदि में पत्रकारों के बैठने की व्यवस्था कराए जाने की मांग पर विचार करेंगे।
कार्यक्रम में डाॅ एम0 डी0 पांडे जी ने देवर्षि नारद पर विचार रखते हुए कहा कि नारद जी विश्व के प्रथम संवाददाता रहे। उन्होंने समाज कल्याण के लिए संवादों को एक से दूसरे पक्ष तक पहंुचाने की अहम भूमिका निभाई। वे निर्भीक पत्रकारिता के लिए भी जाने जाते है। अडिगता उनके कार्योे से झलकती है।
इस अवसर पर पंजाब विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति के0 एम0 पाठक ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की ओर कहा कि पत्रकारिता का कार्य चुनौती पूर्ण है। पत्रकारों को सरकार व समाज की ओर से समय समय पर सम्मान मिलते रहना चाहिए ओर जो पत्रकारिता को कलंकित करते हैं ,उनको इस व्यवसाय से दूर किया जाना चाहिए।
इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार श्री राधेश्याम शर्मा ने सृष्टि के पहले पत्रकार देवऋषि नारद द्वारा प्रतिपादित पत्रकारिता के सिद्धान्तों का विस्तार से वर्णन किया। उन्होंने कहा कि देवऋषि ने संवाद के क्षेत्र में उच्च मूल्यों को स्थापित किया, जिनकी आज की पत्रकारिता को बेहद जरूरत है।
इस अवसर पर जिले के सभी पत्रकारों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया ।

Share