ग्रामीण आंचल के पारिवारिक व सामाजिक रिश्तों को ब्यां करती है फिल्म दारा.

चंडीगढ़, 30 मई। फिल्म दारा पूरी तरह से पारिवारिक फिल्म है और यह फिल्म पंजाब के ग्रामीण आंचल के साथ जुड़े रिश्तों को चिन्हित करती नामी लेखक व कहानीकार पदमश्री बलदेव सिंह सडक़नामा की कहानी पर आधारित है और सामाजिक रिश्तों को लाजवाब तरीके से ब्यां करती है। यह बात पंजाबी फिल्म दारा का पोस्टर पहली बार आज फिल्म की पूरी टीम द्वारा चंडीगढ़ प्रेस क्लब में रिलीज करते समय फिल्म के निर्माता दलविंद्र गुराया ने कही। यह फिल्म 2 सितंबर को पूरे विश्व भर में रिलीज होने जा रही है। फिल्म अपनी कहानी, संवाद व कलाकारों के चयन को लेकर अभी से ही सोशल मीडिया में बेहद चर्चा का विषय बनी हुई है। उल्लेखनीय है कि इस फिल्म के निर्माता दलविंद्र गुराया की कंपनी गुराया फिल्म इंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड द्वारा फिल्म का निर्माण किया गया है। इस फिल्म में पंजाबी सिनेमा जगत के नामवर कलाकार अपनी अदाकारी का जलवा दिखाएंगे। इस फिल्म के जरिए पंजाबी संगीत प्रेमियों के जाने पहचाने नाम पम्मी बाई और हैप्पी रायकोटि अदाकारी के क्षेत्र में भी दाखिल होने जा रहे हैं।
श्री गुराया ने बताया कि फिल्म के केंद्रीय पात्र गुरप्रीत घुग्गी हैं जिन्होंने फिल्म में एक ग्रामीण युवक दारा की दमदार मुख्य भूमिका निभाई है। अब तक उन्होंने बहुत सी पंजाबी फिल्मों में हास्य कलाकार के रूप में अपने अभिनय से सभी को आश्चर्यचकित किया है लेकिन इस फिल्म के माध्यम से वह एक गंभीर अदाकार की भूमिका निभाएंगे। इस संबंध में गुरप्रीत घुग्गी का कहना है कि फिल्म में दारा का पात्र इतना रोचक व दमदार है कि उन्होंने फिल्म की कहानी सुनते ही इसके लिए हां कर दी। इस फिल्म के निर्माण के दौरान समय-समय पर दारा की भूमिका निभाते हुए मुझे यह अनुभव हुआ कि हमारी ग्रामीण संस्कृति व सभ्यता का ताना बाना आजकल कैसे-कैसे और किन हालातों से गुजर रहा है। फिल्म के दूसरे प्रमुख कलाकार करतार चीमा है जिन्होंने अब तक अनेक पंजाबी फिल्मों में अहम भूमिका निभाई। लेकिन फिल्म दारा में दर्शक उन्हें एक अलग भूमिका में पाएंगे।
पंजाबी गायकी के नामवर गायक पम्मी बाई द्वारा फिल्म दारा के माध्यम से अदाकारी के क्षेत्र में भी पहली बार पांव रखे जा रहे हैं। पम्मी बाई के अनुसार हर गायक जब गीतों का वीडियो तैयार करता है तो वे एक तरह से अदाकार ही होता है, लेकिन अढाई घंटे की पूरी फिल्म करना व गीतों के वीडियो में काम करना दोनों पूरी तरह से अलग-अलग है। जहां तक हर पंजाबी का संबंध है वह प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से पंजाब के साथ जुड़ा हुआ है और फिल्म दारा उन सभी पंजाबियों की नेतृत्व करती है। फिल्म में हेप्पी रायकोटी ने भी बेहद अहम भूमिका निभाई है। गुरप्रीत घुग्गी व पम्मी बाई का कहना है कि हर कलाकार को अच्छी कहानी वाली फिल्म में काम करने का मौका मिलना एक बहुत बड़ी प्राप्ति माना जा सकता है और मुझे भी इस फिल्म का हिस्सा बनने पर बेहद खुशी है। हैप्पी रायकोटि जिनका नाम पंजाबी गायन व गीत लेखन में बेहद शिखर पर है वे भी इस फिल्म दारा के माध्यम से पंजाबी सिनेमा जगत में अभिनय के क्षेत्र में दाखिल होने जा रहे हैं।
श्री गुराया ने बताया कि फिल्म दारा में शिवेंद्र माहल, मिस वल्र्ड पंजाबन-2015 मिस मनप्रीत सग्गू, निर्मल ऋषि, राज धालीवाल, सरदार सोही व मनवीर कौर सहित अनेक प्रमुख कलाकारों ने बेहतरीन अभिनय निभाया है। फिल्म के निर्देशक प्रवीण कुमार है जिन्हें फिल्म जगत में काम करते हुए करीब एक दशक से ज्यादा समय हो चुका है। फिल्म की कहानी प्रसिद्ध कहानीकार पदमश्री बलदेव सिंह सडक़नामा ने लिखी है और फिल्म को संगीत कुलजीत सिंह जी ने दिया है। फिल्म के गीतों को गायक हैप्पी रायकोटि, पम्मी बाई, लैंहबर हुस्सैनपुरी, नछत्तर गिल, अकरम राही और सुदेश कुमारी ने अपनी मधुर आवाज दी है। फिल्म दारा के लाइन निर्माता लाइव फोक स्टूडियो है और फिल्म की शूटिंग पटियाला व सुनाव के आसपास स्थित ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में की गई है। फिल्म का पोस्टर रिलीज करते समय सभी कलाकारों ने शूटिंग के दौरान इस फिल्म को लेकर अपने अनुभव मीडिया से भी सांझा किए।

Share