सभी अधिकारी व कर्मचारी कार्यालयों में समय पर आना सुनिश्चित करें तथा बायोमैट्रिक परने अपनी हाजिरी अवश्य दर्ज करें- डा. गरिमा मितल.

पंचकूला, 17 मई- उपायुक्त डा. गरिमा मितल ने कहा कि सभी अधिकारी व कर्मचारी कार्यालयों में समय पर आना सुनिश्चित करें तथा बायोमैट्रिक पर अपनी हाजिरी अवश्य दर्ज करें। इसके अलावा विभिन्न विभागों के माध्यम से चलाई जा रही जनहित योजनाओं का लाभ भी हर पात्र व्यक्ति तक पहुंचाना सुनिश्चित करें।
उपायुक्त मंगलवार को लघु सचिवालय के सभागार में जिला अधिकारी बोर्ड की मासिक बैठक में विभिन्न विभागों के माध्यम से करवाए जा रहे विकास कार्यों व जनकल्याणकारी योजनाओं की प्रगति की समीक्षा कर रही थी। उन्होंने कहा कि सभी विभाग सुनिश्चित करें, उनके विभागीय लक्ष्यों के अनुसार विकास कार्य करवाए जाएं तथा लक्ष्य से पिछडऩा नहीं है, बल्कि उन्हें तय समय सीमा में पूरा करना है। उपायुक्त ने कहा कि सीएम विंडो पर प्राप्त शिकायतों का निपटारा प्राथमिकता के आधार पर किया जाए, क्योंकि इसकी मॉनीटरिंग खुद मुख्यमंत्री हरियाणा करते हैं। इस कार्य में कोई भी ढील नहीं होनी चाहिए। उन्होंने सभी विभागों से शिकायतों की प्रगति की समीक्षा भी की। इसके बाद उन्होंने सीएम घोषणाओं की फिजिबिलिटी व इस पर हो रही विभागीय कार्यवाही के बारे मेें जानकारी ली तथा जल्द रिपोर्ट तैयार करने को कहा। बैठक में उप निदेशक कृषि सुरेंद्र यादव ने बताया कि गत मास के दौरान 257 मिट्टी स्वास्थ्य कार्ड जारी किए गए। इसके अलावा उन्होंन धान, मक्का के बिजाई क्षेत्र के बारे में जानकारी दी। सिविल सर्जन डा. वीके बंसल ने बताया कि जिला में करीब 96.4 प्रतिशत संस्थागत डिलीवरी की गई है तथा विभाग का प्रयास है कि 100 प्रतिशत डिलीवरी संस्थागत हों। उपायुक्त ने उन्हें निर्देश दिए कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी समय-समय पर फूड सैंपल अवश्य लें। उन्होंने प्रसव पूर्व लिंग जांच व कन्या भ्रूण हत्या व एमटीपी किट के संबंध में भी कड़ी कार्यवाही के निर्देश दिए।
जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि इस समय जिला के ग्रामीण क्षेत्र में 220 ट्यूबवैल तथा शहरी क्षेत्र में 25 टयूबवैल हैं, जिनसे प्रतिदिन लोगों को पानी सप्लाई किया जाता है। उपायुक्त ने उन्हेें निर्देश दिए कि वे पानी के सैंपल अलग-अलग क्षेत्र में चेक करते रहें तथा लोगों को साफ-स्वच्छ पानी पहुंचाना सुनिश्चित करें। इसके अलावा अगर किसी क्षेत्र में पानी की समस्या है तो वहां पर टैंकर आदि से पानी की कमी को पूरा करें तथा गर्मी के मौसम में विभाग के अधिकारी इस समस्या से निपटने के लिए हमेशा तत्पर रहें। उपायुक्त ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे मिड-डे-मील की लगातार चेकिंग करते रहें तथा बच्चों के खाने में किसी प्रकार की लापरवाही न हो। इसके अलावा ऐसे स्कूल भवनों की रिपोर्ट तैयार करें, जिसकी भवन कंडम स्थिति में हैं। इस कार्य मेें अधिकारियों ने गंभीरता से रिपोर्ट तैयार करनी है। स्कूलों में लडक़ों व लड़कियों के लिए अलग-अलग शौचालय हों तथा उनकी सफाई भी हो। जिला वन अधिकारी रोहताश ने बताया कि बारिश के मौसम मेें जिला में 1746 हैक्टेयर भूमि पर लगभग 18 लाख पौधे लगाए जाएंगे। इसके अतिरिक्त बांधों की निर्माण और हर्बल हब का दायरा भी बढ़ाया जाएगा। उपायुक्त ने उन्हें निर्देश दिए कि वे सिटी फोरेस्ट की संभावनाओं की तलाश करें तथा नगर निगम ऐसे क्षेत्र चिन्हित करे, जहां हरियाली बढ़ाने केे उद्देश्य से और पेड़-पौधे लगाए जा सकें। इसके अलावा जो विभाग पौधे लगाने की मांग करें, उसकी मांग भी पूरी की जाए। उन्होंने खनन विभाग के अधिकारियो को निर्देश दिये कि वे जिला में अवैध खनन न होने दें, अगर अवैध खनन संबंधी शिकायत मिलती है तो दोषी व्यक्ति पर कार्यवाही की जाए।
उपायुक्त ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिला अधिकारी बोर्ड की बैठक में स्वयं उपस्थित होना सुनिश्चित करें। यदि कोई अधिकारी अनुपस्थित रहता है तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ विभागीय कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। उन्होंने मार्केटिंग बोर्ड के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे विभिन्न सेक्टरों में लगने वाली मंडियों में सफाई की ओर विशेष ध्यान दें। मंडी बाद तुरंत साफ-सफाई करवाना सुनिश्चित करें ताकि उस स्थान पर आवारा पशु न घूमें। उपायुक्त ने जिला में कानून व्यवस्था के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। उपायुक्त ने बैठक में इसके अलावा आयुर्वेद, नगर निगम, खाद्य एवं पूर्ति, उप आबकारी एवं कराधान, हुडा डिवीजन नंबर 1,2,3, समाज कल्याण, कल्याण विभाग, रैडक्रास, श्रम विभाग, पशुपालन, मछलीपालन विभाग इत्यादि के विकास कार्यों की भी समीक्षा की।
बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त हेमा शर्मा, एसडीएम पंचकूला राधिका सिंह, कालका आशुतोष राजन, क्षेत्रीय परिवहन सचिव अमरजीत सिंह, संपदा अधिकारी हुडा मनीश लौहान, एसीपी दिलीप बिश्रोई, जिला राजस्व अधिकारी धीरज चहल सहित सभी विभागों के अधिकारी शामिल थे।

Share