कृषि, सिंचाई, विकास एवं पंचायत मंत्री हरियाणा ओमप्रकाश धनखड़ 15 मई को प्रात: 10 बजे खंड मोरनी के गांव धापली में .

पंचकूला, 13 मई- कृषि, सिंचाई, विकास एवं पंचायत मंत्री हरियाणा ओमप्रकाश धनखड़ 15 मई को प्रात: 10 बजे खंड मोरनी के गांव धापली में वन विभाग इको टूरिज्म का दौरा करेंगे तथा सरपंच, पंचायत समिति सदस्य व जिला परिषद के सदस्यों की लेंगे।
विधायक लतिका शर्मा ने बताया कि इस बैठक में मंत्री ओपी धनखड़ पंचायती राज संस्थाओं के जनप्रतिनिधियों को पंचायती राज एक्ट के तहत प्राप्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए लोगों की सहभागिता के साथ विकास कार्यों को पूरी पारदर्शिता के साथ करवाने संबंधी पूरी जानकारी की देंगे व उनका मार्गदर्शन करेंगे। उन्होंने बताया कि पंचायती राज संस्थानों के चुने गए सभी प्रतिनिधि साफ छवि के हैं, कायदे कानून को मानने वाले हैं और पढ़े-लिखे हंै। हरियाणा पंचायती राज अधिनियम में सरकार ने जो संशोधन किया था, सही मायने में अब पंच परमेश्वर की अवधारणा को ये लोग चरितार्थ करेंगे। उन्होंने कहा कि चुनाव में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षित सीटों के विरुद्ध 42 प्रतिशत महिलाएं चुनकर आई हंै। इसी प्रकार अनुसूचित जातियों के लिए आरक्षित 20 प्रतिशत सीटों के विरुद्ध अनुसूचित जाति के प्रतिनिधि चुनकर आए है। इन चुनाव में बड़ी संख्या में प्रदेश की बहन बेटियों ने गांव के विकास की बागडोर संभाली है। इनमें से कोई स्नातक, कोई एमए है तो कोई एमबीए है। उन्होंने कहा कि पढ़ी-लिखी पंचायतें होने से अब गांवों के विकास कार्यों में तेजी आएगी और उसका लाभ अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति को प्राप्त होगा।
विधायक ने बताया कि सरकार द्वारा लिए गए निर्णय के अनुसार जिला परिषद अध्यक्ष को मानदेय के रूप में 10 हजार रुपये, उपाध्यक्ष को 7500 रुपये तथा सदस्य को 3 हजार रुपये मासिक दिया जा रहा है। पंचायत समिति अध्यक्ष को 75 सौ रुपये, उपाध्यक्ष को 3500 रुपये तथा सदस्य को 1600 रुपये मानदेय के रूप में दिए जा रहे है। इसी प्रकार सरपंच को मानदेय 3000 रुपये तथा पंच को 1000 रुपये मासिक दिया जा रहा है। उन्होंने जिला के पंचायती राज संस्थाओं के जनप्रतिनिधियों से अपील करते हुए कहा कि वे 15 मई को निर्धारित समयावधि से पहले पहुंचकर मुख्यातिथि का स्वागत करें।

Share