पीने के पानी की भारी कमीं

Panchkula-20-April पीने के पानी की भारी कमीं के सम्मुख बहुत जी घबराता है जब देखता हूं ; 1) कार मालिक सोए होते है और कोई उनके नल से पाइप लगा गाड़ी धो जाता है । बहुत कोशिश की और रोका । बस अब केवल एक ही धोने वाला नहीं हटता । उसके कार मालिक भी जोर देकर नहीं कहते । कानून !!! 2) नल खुला रहता है और कोई टूथ ब्रश घिसाता रहता है । 3) सारा दिन पार्कों में पीने के पानी से सिंचाई होती है । हुडा 12 साल से टर्शरी वाटर वादा कर रहा है । हाय रे धीमी गति !!! भाई बचपन में मनीमाजरा में पानी की कमी भुग्त चुका हूं । 100 फीट गहरे कुएं से पानी खींचना और एक किलोमीटर ढोना । आज भी अन्य जगह से भयानक तस्वीर सामने आती है । अगला विश्वयुद्ध पानी के लिए । ‘पानी बचाओ स्वर्ग पाओ’ जल संरक्षण काम में तेजी लाओ , कर्तव्यपरायण व समाजसेवी कहलाओ ।”

Share