विनोद अग्रवाल के भजनों पर श्रद्धालु जमकर झूमें

विनोद अग्रवाल के भजनों पर श्रद्धालु जमकर झूमें

पंचकूला 16 अप्रैल। मंद-मंद पवन के झोंके चल रहे थे। मंच से श्रीकृष्ण-राधा की भक्ति गीत गाए जा रहे थे और हर तरफ कृष्ण भक्ति की बयार बह रही थी। अपार जनसमूह मौजूद था, पर उनकी आखें कुछ तलाश सी रही हैं। शायद वह कुछ कमी सी महसूस हो रही थी। कान कुछ सुनने को बेताब हो रहे थे। इसी बीच रात 9 बजे जैसे ही भजन गायक विनोद अग्रवाल आए तो मिलो घनश्याम, भर आईं राधा की अखियां बरसत आठों यां, आजा सांवरिया, आजा सांवरिया….गाना शुरू किया तो लोग झूमने लगे। दरअसल पंचकूला गौशाला ट्रस्ट की ओर से एक शाम गौमाता के नाम आयोजन किया गया था। लोग सात बजे ही विनोद अग्रवाल का इंतजार करने लगे, लेकिन वह दो घंटे बाद आये, पर जब आये, तो माहौल कृष्णमय हो गया। माता मनसा देवी गौधाम के प्रधान कुलभूषण गोयल, महासचिव डा. नरेश मित्तल, तेजपाल गुप्ता, कुसुम गुप्ता, राजकुमार भौजिया, भूपिंद्र गोयल एवं अन्य ने फूलमालाएं पहनाकर उनका स्वागत किया।
इसके बाद इंतजार की घडियां समाप्त और जैसे-जैसे रात बढ़ती जा रही थी, पवन के झोंके ठंडे और तेज होते जा रहे थे। लोग भी श्रीकृष्ण भक्ति के रंग में डूबते जा रहे थे। वे भजनों की धुन पर झूम रहे थे। विनोद अग्रवाल ने एक के बाद एक भजन प्रस्तुत किए।
सांवरिया आजा रे, तैने कहां लगाई ऐथी देर, अरे ओ सांवरिया, बीत गई न जानें कितनी बाठ निहारत रतियां….। पंजाबी भाषा में आजा रे ओ मेरे प्यारे सजणां, तेरे पीछे मे रुललइयां…। पिला दे ओ साकी श्याम नाम की मस्ती, सब तुझको नजराना दे दूं, एक ही बूंद पिला दे….। इन भजनों पर श्रोता झूम उठे।
जैसे ही अग्रवाल ने अपना प्रसिद्ध भजन गोपाल मुरलिया वाले, नंदलाल मुरलिया वाले गाया तो हर कोई झूम उठा। राधा..राधा..राधा… मेरो धन राधा, जीवन धन राधा के बाद फूलों में सज रहे हैं श्रीवृंदावन बिहारी और साथ सज रहीं हैं बृषभान की दुलारी पर तो श्रोता कृष्ण भक्ति में सरावोर से हो गए। आखिर में आपकी कृपा से सब काम हो रहा है भजन हुआ। श्रीराधे श्रीराधे श्री राधे…जय श्यामा की धुन पर श्रद्धालु झूमे और कार्यक्रम का समापन भी हो गया।
विनोद अग्रवाल ने भजनों के बीच कुछ फिल्मी तरानों को भी मिक्स-अप किया। इस पर जमकर तालियां बजीं और खूब ठहाके लगे। मैंने देखा तुमको भुला के पर दिल से कभी न उतरा, हैंग ओवर तेरी यादों का, हैंगओवर तेरी बातों का। मेरा प्यार तो इतना है, जे यार न मिले ते मर जावा, जे प्यार न मिले ते मर जावा। घूंघट की आड़ से दिलवर का..। जैसे अनेक भजनों पर लोग झूमते नजर आये। इस अवसर पर गौधाम के प्रधान कुलभूष्ण गोयल, महासचिव डा. नरेश मित्तल, कोषाध्यक्ष राजकुमार भौजिया, हरगोबिंद गोयल, अंजू गोयल, श्रीमाता मनसा देवी पूजास्थल बोर्ड के सीइओ वीजी गोयल, सचिव सत्यनारायण वर्मा, सुरेंद्र बंसल, तेजपाल गुप्ता भी उपस्थित थे।

Share