पंजाब एण्ड सिंध बैंक के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक स.जतिंदरबीर सिंह (आई.ए.एस.) ने बैंक में हुई प्रगति को हाइलाइट किया-

Chandigarh-7-April,पंजाब एण्ड सिंध बैंक के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक स.जतिंदरबीर सिंह (आई.ए.एस.) ने बैंक में हुई प्रगति को हाइलाइट किया-
कॉर्पोरेट स्तर पर- प्रोविज़नल परिणाम के अनुसार दिनांक 31-03-2016 तक जमा राशि में रु 91184 करोड़ की और एडवांस में रु 65386 करोड़ की बढ़ोतरी हुई।दिनांक 31-03-2016 तक प्राथमिकता क्षेत्र के एडवांस में रू 24773 करोड़ की वृद्धि हुई जोकि एएनबीसी का 37.26% है और मार्च 2015 की तुलना में 34.55 % की वृद्धि हुई। दिनांक 31-03-2016 में, मार्च 2015 की तुलना में प्रथामिकता क्षेत्र में 22.43% सकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई। बैंक के खुदरा एडवांस (रिटेल लेंडिग) में 25% तक वृद्धि हुई। वर्ष 2015 के लिए ASSOCHAM द्वारा बैंक को ‘Social Banking Excellence Award ‘द्वारा सम्मानित किया गया। माननीय केंद्रीय कैबिनेट मंत्री श्री कलराज मिश्रा द्वारा बैंक को प्रधान मंत्री जन-धन योजना के लिए उत्कृष्टता अवार्ड दिया गया। दिनांक 01-04-2016 से पंजाब एण्ड सिंध बैंक द्वारा विभिन्न अवधि के लिए Marginal Cost of Funds Based Lending Rate प्रणाली को अपनाया गया है। ओवरनाइट और एक माह की अवधि के लिए रेट क्रमवार 9.30 % और 9.50% है और तीन माह, छह माह और एक वर्ष की अवधि के लिए 9.65% है। पंजाब राज्य में- श्री रमिंदरजीत सिंह, महा-प्रबंधक ,स्थानीय प्रधान कार्यालय,द्वारा अवगत करवाया गया कि बैंक ने रु 8241 करोड़ (61%) पंजाब राज्य में प्रथामिकता क्षेत्र को ऋण के रूप में दिए गए जिसमें से रू 4624 करोड़ (34%) कृषि क्षेत्र को दिए गए। एम.एस.एम.ई (MSME) क्षेत्र में बैंक का कुल योगदान रु 2205 करोड़ (16%) और कमजोर वर्ग को सहायता के रूप में 3728 करोड़ (28%) आंचलिक कार्यालय स्तर पर श्री टी.पी.एस.वालिया – आंचलिक प्रबंधक चंडीगढ़, ने अवगत करवाया कि रु 5273 करोड़ बैंक के डिपाजिट पूल में और पब्लिक को रु 2835 करोड़ ऋण के रूप में दिए गए हैं। प्रथामिकता क्षेत्र में रू 1564 करोड़ (55%) उधार दिया गया है जिसमें से कृषि क्षेत्र को रू 421.5 करोड (28%) दिया गया है।आंचलिक कार्यालय चंडीगढ़ द्वारा भारत सरकार द्वारा आरम्भ गोल्ड बांड स्कीम में प्रथम स्थान प्राप्त किया।

Share