ताऊ देवीलाल खेल परिसर में पांच दिवसीय 16वें राष्ट्रीय पैरा एथलेटिक्स प्रतियोगिता का शुभारंभ

पंचकूला, 26 मार्च- हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने घोषणा की कि ओलंपिक व अन्य अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के विजेताओं की तर्ज पर पैरा ओलंपिक खिलाडिय़ों को भी सुविधाएं दी जाएंगी व पुरस्कृत किया जाएगा। प्रदेश को खेल हब बनाने के लिए सरकार ने नई खेल नीति बनाई है, जिसमें पैरा ओलंपिक खिलाडिय़ों की खेल सुविधाओं व प्रोत्साहन राशि में इजाफा किया गया है। उन्होंने प्रदेश की खेल नीति की सराहना करते हुए कहा कि अन्य प्रदेशों को भी इस नीति का अनुसरण करना चाहिए।
मुख्यमंत्री शनिवार को सेक्टर-3 स्थित ताऊ देवीलाल खेल परिसर में पांच दिवसीय 16वें राष्ट्रीय पैरा एथलेटिक्स प्रतियोगिता का शुभारंभ करने के बाद खिलाडिय़ों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की ओर से ओलंपिक में स्वर्ण पदक विजेता खिलाडिय़ों को छह करोड़, रजत पदक के लिए चार करोड़ व कांस्य पदक विजेता को ढाई करोड़ रुपए की पुरस्कार राशि दी जाती है। इस प्रतियोगिता में 20 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के लगभग एक हजार खिलाड़ी व 100 खेल प्रशिक्षक भाग ले रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने भारतीय पैरालिंपिक कमेटी व हरियाणा पैरालिंपिक कमेटी के अध्यक्ष तथा केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह की मांग पर फरीदाबाद में पैरालिंपिक कमेटी का कार्यालय बनाने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि गुडग़ांव में हुए भारत केसरी दंगल के दौरान गुडग़ांव में 10 लेन का सिंथैटिक ट्रैक बनाने की घोषणा की गई है, जिसका उपयोग फरीदाबाद के खिलाड़ी भी आसानी से कर सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विकलांग व्यक्तियों के सम्मान के लिए उन्हें दिव्यांग से परिभाषित करना शुरू किया है। उन्होंने कहा कि शारीरिक विकलांग व्यक्तियों में प्रतिभा की कमी नहीं होती। देश के करीब 2.68 करोड़ दिव्यांग व्यक्ति शारीरिक रूप से अक्षम होते हुए अनेक क्षेत्रों में देश के विकास में भागीदार बने हुए हैं। हरियाणा सरकार ने दिव्यांग खिलाडिय़ों को भी सामान्य खिलाडिय़ों की तर्ज पर आउट आफ टर्न आधार पर सरकारी नौकरियां प्रदान की हंै। ग्रामीण क्षेत्रों में बच्चों का रुझान खेलों की ओर बढ़ाने के उद्देश्य से स्पीड नामक योजना शुरू की है, जिसके तहत पांच से आठ वर्ष आयु वर्ग तक के बच्चे अपनी रूचि के अनुसार खेल का चयन कर सकते हैं। हरियाणा सरकार हर वर्ष ऐसे 5000 खिलाडिय़ों का चयन कर उन्हें प्रशिक्षित करती है और छात्रवृत्ति प्रदान करती है।
मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता का आह्वान किया कि वे किसी जाति-पाति में विश्वास न करके भाईचारे के साथ रहे। सरकार ने भी प्रदेश में भाईचारे की भावना को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा एक-हरियाणवी एक का नारा दिया है। हालांकि हरियाणा की आबादी देश की कुल जनसंख्या का केवल दो प्रतिशत है, लेकिन देश की सेना में दस प्रतिशत सैनिक हरियाणा से हैं। इतना ही नहीं, अंतरराष्ट्रीय खेलों में भी करीब एक-तिहाई पदक हरियाणा के खिलाडिय़ों द्वारा ही लाए जाते हैं। उन्होंने कहा कि खेल आपसी भाईचारे एवं सद्भावना को बढ़ाने की प्रेरणा देते हैं। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में अर्जुन अवार्डी एचएन गिरिशा, आरडी सिंह, नवल सिंह, सुखवीर सिंह, गिरिराज सिंह, जी महादेवा, मुनीषवाड़ा, राजेंद्र सिंह, जगसीर सिंह, पारूल व दीपा मलिक को सम्मानित भी किया।
केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने कहा कि इसी वर्ष होने वाले रियो ओलंपिक के लिए भारतीय खिलाडिय़ों का चयन पैरालिंपिक एथलेटिक्स प्रतियोगिता में उनके प्रदर्शन के आधार पर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पैरालिंपिक कमेटी आफ इंडिया को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता दिलवाने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने 16वीं पैरा एथलेटिक्स प्रतियोगिता के लिए दिये गए सहयोग के लिए मुख्यमंत्री मनोहरलाल व हरियाणा ओलंपिक संघ की भी सराहना की।
केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ने कहा कि विकलांग व्यक्तियों को किसी की दया की जरूरत नहीं होती, बल्कि उन्हें यथोचित समय, सम्मान व प्रेम भावना से दी जाने वाली सहायता की जरूरत होती है। देश की जनसंख्या का 2.21 प्रतिशत हिस्सा दिव्यांग व्यक्तियों का होते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ऐसे व्यक्तियों के सामाजिक, आर्थिक एवं शैक्षणिक उत्थान के लिए सुलभ भारत अभियान शुरू किया है, जिसके तहत देश मेें पांच स्थानों पर बहरे व गूंगे व्यक्तियों के लिए महाविद्यालय खोले जाएंगे। उन्होंने कहा कि ऐसे व्यक्तियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है। कृष्णपाल गुर्जर ने हरियाणा की नई खेल नीति में दिव्यांग खिलाडिय़ों के लिए सामान्य खिलाडिय़ों की तर्ज पर दिये जाने वाली सुविधाओं के लिए मुख्यमंत्री मनोहरलाल व खेल मंत्री अनिल विज का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि हाल ही में गुडग़ांव में कुश्ती दंगल एक सफल आयोजन रहा है। कार्यक्रम में सांसद रतनलाल कटारिया, सहकारिता राज्य मंत्री विक्रम सिंह यादव, विधायक ज्ञानचंद गुप्ता व लतिका शर्मा, सुखविन्द्र श्योराण, मेयर उपेन्द्र कौर आहलुवालिया, भाजपा महिला विंग की उपाध्यक्ष बंतो कटारिया, अंबाला मंडल के पुलिस आयुक्त ओपी सिंह, पंचकूला के उपायुक्त मनदीप सिंह बराड़, खेल निदेशक जगदीप सिंह, पुलिस उपायुक्त अनिल धवन, भारतीय पैरालिंपिक कमेटी के महासचिव जे चंद्रशेखर, पैरालिंपिक कमेटी हरियाणा के उपाध्यक्ष गुरशरण सिंह व तकनीकी सलाहकार ज्योति कुमार छाबड़ा, शिवालिक विकास बोर्ड के सदस्य श्यामलाल बंसल, बीबी सिंघल, विरेंदर राणा व भाजपा जिला अध्यक्ष दीपक शर्मा सहित अनेक वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Share