आज भौतिकता से प्रभावित होकर मानव जीवन सिद्धांतों से दूर होता जा रहा है- प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी

पंचकूला, 1 मार्च हरियाणा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने कहा कि जैन मुनि आचार्य तुलसी ने जो नियम 1949 में मनुष्य जीवन के लिए अपनाने की पहल की थी, उसे भारत के भविष्य के लिए अपनाने की जरूरत है।
राज्यपाल मंगलवार को सेक्टर-12ए के तेरा पंथ भवन में आयोजित 67वें अणुवर्त दिवस समारोह के अवसर पर मुख्यातिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि आज भौतिकता से प्रभावित होकर मानव जीवन सिद्धांतों से दूर होता जा रहा है। मनुष्य जीवन बड़ी मुश्किल से मिलता है। मानव सिद्धांतों के मूल्यों का पालना करना बड़ा जरूरी है, इससे हम भारत के भविष्य को उज्ज्वल बना सकते हैं। उन्होंने कहा कि आचार्य तुलसी ने जो बात आज काफी वर्ष पहले नैतिकता, संयम, अनुशासन, भाईचारा जैसे 11 नियमों की पालना करने की बता कही थी, वह आज के परिदृश्य में अति महत्वपूर्ण है।
उन्होंने कहा कि हरियाणा में पिछले दिनों जो घटनाएं घटी, वह अत्यंत दुखदायी व मानव जीवन के सिद्धांतों से परे थी। उन्होंने कहा कि ईस्ट इंडिया कंपनी भारत में व्यापार करने के उद्देश्य से 1757 से 1875 तक रही, परंतु उन्होंने कूटनीतिक का परिचय देते हुए अंग्रेजों को भारत में शासन करने का रास्ता प्रशस्त किया। ईस्ट इंडिया कंपनी के बाद भारत में इंग्लैंड की महारानी एलिजाबेथ व उनका शासन चला। उन्होंने कहा कि 1947 को भारत को आजादी मिली और एक मार्च 1949 मेें आचार्य तुलसी ने मनुष्य जीवन के सिद्धांतों की परिकल्पना की। अगर पूरा समाज उनके नियमों पर चलता है तो आज भारत में किसी प्रकार की अराजकता व विरोधाभास की स्थिति उत्पन्न नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि भौतिकवाद से उपर उठकर जीवन के अंदर नियमों का पालन करने का हमें संकल्प लेना चाहिए। उन्होंने आचार्य तुलसी द्वारा बताए गए नियमों के प्रचार-प्रसार के लिए आचार्य जैन मुनि विनय कुमार आलोक व अन्य सदस्यों के प्रयासों की सराहना की, जो मानवता के लिए एक नेक कार्य कर रहे हैं। इस अवसर पर उन्होंने अनुव्रत पट्ट व अनुव्रत मासिक पत्रिका विमोचन किया।
कार्यक्रम में जैन मुनि विनय कुमार ने भी संबोधित किया और लोगों को आचार्य तुलसी द्वारा अनुव्रत नियमों की अनुपालना करने की सलाह दी, ताकि समाज व राष्ट्र में भाईचारा बढ़े। इस अवसर पर जैन सभा पंचकूला के प्रधान राधेश्याम ने भी सभा की ओर से की जा रही गतिविधियों पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर मेयर उपेंद्र कौर आहलुवालिया, राज्यपाल के सचिव एके अग्रवाल, उपायुक्त मनदीप सिंह बराड़, पुलिस उपायुक्त अनिल धवन, एसडीएम राधिका सिंह सहित जिला प्रशासन के अन्य अधिकारी व जैन सभा के पदाधिकारी व अनुयायी उपस्थित थे।

Share