भावना के संस्कार के बिना षिक्षा अधूरी है- प्रो0 कप्तान सिंह सोलंकी

चंडीगढ़, 17 फरवरी- भावना के संस्कार के बिना षिक्षा अधूरी है। सांस्कृतिक कार्यक्रम विद्यार्थियों की भावनाओं को संस्कारित करने का काम करते हैं जो उनके व्यक्तित्व के विकास के लिए जरूरी है। यह बात हरियाणा व पंजाब के राज्यपाल व चण्डीगढ के प्रषासक प्रो0 कप्तान सिंह सोलंकी ने आज स्थानीय गोस्वामी गणेषदत्त सनातन धर्म महाविद्यालय में सांस्कृतिक कार्यक्रम ‘विरासत’ में विद्यार्थियों को सम्मानित करने के बाद अपने सम्बोधन में कही।
राज्यपाल ने कहा कि महज किताबी ज्ञान षिक्षा के लिए पर्याप्त नहीं है। षिक्षा वह है जो विद्यार्थी के षारीरिक विकास, बौद्धिक विकास, भावनात्मक संस्कार और आध्यात्मिक विकास को सुनिष्चित करती है। उन्होंने कहा कि शिक्षा का लक्ष्य अच्छे मानव तैयार करना है। देश के निर्माण के लिए भौतिक विकास के साथ-साथ अच्छे चरित्र वाले नागरिकों का होना बहुत जरूरी है क्योंकि भौतिक विकास का लाभ तभी होगा जब अच्छे मानव तैयार होंगे। उन्होंने ने कहा कि शिक्षा यदि व्यक्ति के मन, हृदय और हाथ का समन्वय नहीं करती तो वह बेकार है। ऐसी शिक्षा प्राप्त व्यक्ति भी समाज के लिए अनुपयोगी है।
राज्यपाल ने कहा कि देश का उत्थान व पतन व्यक्ति पर निर्भर है। जब तक हम व्यक्ति-निर्माण नहीं करेंगे तब तक वैसा देश नहीं बना पाएंगे जैसा हम चाहते हैं। व्यक्ति-निर्माण की जिम्मदारी शिक्षण संस्थाओं की है। विशेषकर महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों पर यह जिम्मदारी अधिक है क्योंकि इनमें देश के वे चुनिंदा युवा पढते हैं जिनकी तरफ देश आशाभरी नजरों से देख रहा है। उन्होंने कहा कि आज देश में सात सौ विश्वविद्यालय हैं और 39-40 हजार कालेज हैं। देश की 125 करोड आबादी में से केवल दो करोड 30 लाख युवा इनमें शिक्षा पाते हैं। इन्हीं युवाओं को तराशकार देश व समाज के लिए उपयोगी बनाने के काम इन उच्चतर शिक्षण संस्थाओं को करना है।
राज्यपाल ने गोस्वामी गणेषदत्त सनातन धर्म महाविद्यालय की सराहना करते हुए कहा कि इस षिक्षण संस्थान ने महान व्यक्तित्व वाले नागरिक देष को दिए हैं। उन्होंने कहा कि महाविद्यालय को गोस्वामी गणेषदत्त, पं0 मोतीलाल षर्मा, रोषनलाल षर्मा जैसे समाजसेवियों ने बनाया है जो यहां के विद्यार्थियों के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं। उन्होंने समाजसेवा का महान आदर्ष हमारे सामने प्रस्तुत किया है।
प्रो0 सोलंकी ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों में अव्वल रहने वाले विद्यार्थियों के अलावा सामाजिक कार्यकर्ता व गायक बनसिंह, गांव झब्बर, जिला मानसा को भी कालेज की ओर से सम्मानित किया।

Share