फर्जी बैंक अधिकारी ने किया कंगाल

फर्जी बैंक अधिकारी ने किया कंगाल
पंचकूला-17/2/16 ( ) :रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के निर्देशों पर देश के कई बैंकों द्वारा अपने ग्राहकों को आगाह किए जाने के बावजूद कुछ लोग फर्जी फोन कॉल के झांसे में फंसकर अपनी मेहनत की कमाई को गंवा रहे हैं। करोड़ों रुपए की लॉटरी निकलने, कोई बड़ा गिफ्ट निकलने अथवा जाली बैंक ऑफिशियल बन ग्राहकों को फोन कर उनकी जानकारियां जुटाने वाले नौसरबाजों का इस समय पूरे देश में सक्रिय है। लगभग हर बैंक ग्राहक को ऐसी कॉल्स, मैसेज अथवा ईमेल प्राप्त हो रहे हैं, जिसमें उन्हें झांसे में फंसाने का पूरा खाका तैयार होता है।
पंचकूला निवासी सेक्टर15 निवासी व स्टेट बैंक ऑफ पटियाला के उपभोक्ता बजरंग लाल के साथ पिछले सप्ताह कुछ ऐसा ही घटित हुआ। एक जालसाज ने खुद को बैंक का अधिकारी बताते हुए उससे एटीएम कार्ड एक्सपायर होने की बात कहीं और जानकारी जुटाकर 76767 रुपए का चुना लगा दिया। इस विषय में जानकारी देते हुए पीड़ित बजरंग लाल ने बताया कि 25 जनवरी 2016 के दिन उनके पास 9507179538 नंबर से फोन आया और फोन करने वाले ने खुद को बैंक का अधिकारी बताते हुए एटीएम कार्ड एक्सपायर होने की बात कहीं और उनसे कहा कि आपके पास बैंक से मेसज आएगा इतनी बात करके फोन काट दिया। उन्होंने बताया कि थोड़ी देर बात उनके पास फोन पर बैंक के नाम से मैसज आया इसके तुरंत बाद ही उसी नंबर से फिर फोन आया और उन्होंने मैसज पढ़ कर सुनाने को कहा। बजरंग लाल ने बताया कि मैसज पढ़कर सुनाने के बाद उन्होंने फोन काट दिया। बजरंग लाल ने बताया कि 6 फ़रवरी 2016 के दिन स्टेट बैंक ऑफ पटियाला से उनके पास मैसज आया कि आपके अकाउंट में 35255 रूपये रह गए हैं जबकि उनके अकाउंट में 1 लाख 12 हजार 22 रूपये थे। उन्होंने तुरंत बैंक में जाकर अकाउंट संबंधी जानकारी ली तो उन्हें पता चला कि किसी ने उनके अकाउंट से 76767 रुपए की ऑनलाइन खरीददारी कर ली। इतनी बड़ी रकम उनके अकाउंट से किसी ने निकाल ली लेकिन उनके पास एक भी ट्रांजेक्शन का कोई भी मैसज नहीं आया। बजरंग लाल ने जब बैंक के मैनेजर से इस संबंधी बात करी तो उन्होंने टेक्नीकल फॉल्ट का हवाला देते हुए अपना पल्ला झाड़ लिया। बजरंग लाल ने इसकी सुचना पुलिस को दी जिसपर पुलिस ने 8 फ़रवरी 2016 को मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

Share