सफाई कर्मचारी देश का सबसे बड़ा सेवक है।

पंचकूला, 9 फरवरी- राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य गोपाल कृष्ण सहोत्रा ने कहा कि सफाई कर्मचारी देश का सबसे बड़ा सेवक है। उसका कार्य काफी महत्वपूर्ण है, इसलिए उसे सभी मूलभूत सुविधाएं प्राप्त होनी चाहिएं, इसके लिए संबंधित विभाग उनकी सुविधाओं का लाभ उन्हें देना सुनिश्चित करें।
गोपाल कृष्ण सहोत्रा मंगलवार को पंचकूला रेड बिशप में अपने दौरे के दौरान नगर निगम व प्रशासन के अधिकारियों से सफाई कर्मचारियों को दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी ले रहे थे। बैठक में नगर निगम के आयुक्त जगदीप ढांडा भी उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि सरकार की हिदायतों के अनुसार निगम की ओर से सफाई कर्मचारियों को सभी सुविधाएं दी जा रही हैं। जो सुविधाएं निगम के पास उपलब्ध नहीं हैं, उनके बारे में सरकार को लिखा हुआ है। सरकार द्वारा समय-समय पर जो सुविधाएं व नियम लागू किए जाते हैं, उन्हें तुरंत लागू किया जाता है। इस अवसर पर उन्होंने सफाई कर्मचारियों की यूनियनों के प्रतिनिधियों से मुलाकात कर उनकी समस्याएं भी सुनी। इससे पूर्व उन्होंने कालका में भी सफाई कर्मचारियों की समस्याओं को सुना।
उन्होंने कहा कि जिस प्रकार अन्य विभागों के कर्मचारियों को सरकार की ओर से अनेक मूलभूत सुविधाएं प्रदान की जाती हंै, उसी प्रकार सफाई कर्मचारियों को भी ये सुविधाएं मिलनी चाहिए। उन्हें पर्याप्त मात्रा में वेतन मिलने के साथ रहने की सुविधा भी मिलनी चाहिए ताकि उनके बच्चे अच्छे माहौल में रहकर शिक्षा प्राप्त कर सकें और अपनी पहचान बना सकें। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मचारियों के वेतन में वृद्धि की जाए। ठेकेदारी प्रथा बंद हो। उन्होंने कहा कि संबंधित विभाग सफाई कर्मचारियों को वर्दी, जूते, मास्क, दस्ताने, चश्मे, हेल्मेट आदि सामान जरूर उपलब्ध करवाएं, ताकि सफाई का कार्य करते वक्त कर्मचारी सुरक्षित रहें। इस अवसर पर सफाई कर्मचारी की ओर से यूनियन के प्रधान जिले सिंह, सत्पाल आदि ने अपना मांग पत्र दिया, जिसमें ठेका प्रथा बंद करने, मासिक वेतन बढ़ाने तथा ईपीएफ संबंधी मांगें थी। इस पर राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य गोपाल कृष्ण ने कहा कि वे इस बारे में मुख्यमंत्री मनोहरलाल व मुख्य सचिव हरियाणा से बात करेंगे। उन्होंने बताया कि उनका दौरे का मुख्य उद्देश्य सफाई कर्मचारियों की समस्याएं सुनना है और उनकी रिपोर्ट तैयार कर सरकार तक पहुंचाना है।

Share